22 C
Mumbai
Friday, February 23, 2024

अब असम के पुरुष केवल महिला से ही कर सकते है शादी,मुख्यमंत्री हेमंत बिस्वा शर्मा ने किया ऐलान

अपने विवादित बयानों के जरिए शुर्खिया बटोरने वाले असम के मुख्यमंत्री हेमंत बिस्वा शर्मा ने एक ऐसा कानून राज्य में लागू किया जिसको चर्चा हर कोई कर रहा।दरअसल,असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने कहा है कि किसी भी सरकारी कर्मचारी को एक से अधिक शादी करने की अनुमति नहीं दी जाएगी, भले ही उनका धर्म उन्हें ऐसा करने की अनुमति देता हो। अगर कोई ऐसा करना चाहता है तो उसे सरकार से इजाजत लेनी होगी.

शर्मा ने तर्क देते हुए कहा कि,हमें ऐसे मामले मिलते हैं जहां मुस्लिम पुरुष दो महिलाओं से शादी करते हैं और बाद में दोनों पत्नियां एक ही व्यक्ति की पेंशन के लिए लड़ती हैं। यह कानून पहले से ही था, अब हमने इसे लागू करने का फैसला किया है, सीएम ने कहा। यह कानून राज्य में 58 वर्षों से प्रचलित है लेकिन इसे मजबूती से लागू नहीं किया गया था। इस संबंध में कार्मिक अतिरिक्त मुख्य सचिव नीरज वर्मा द्वारा 20 अक्टूबर को एक परिपत्र जारी किया गया था। इसके अनुसार, असम सिविल सेवा (आचरण) नियम 1965 के नियम 26 के प्रावधानों के अनुसार दिशानिर्देश जारी किए गए हैं। इसमें लिखा है, कोई भी सरकारी कर्मचारी जिसकी पत्नी जीवित है, सरकार की अनुमति प्राप्त किए बिना दूसरी शादी नहीं करेगा, भले ही उस पर लागू होने वाले व्यक्तिगत कानून के तहत ऐसी बाद की शादी की अनुमति हो।

इसमें कहा गया है, जब भी ऐसे मामलों का पता चलता है तो अनुशासनात्मक प्राधिकारी विभागीय कार्यवाही शुरू करने के अलावा कानून के प्रावधानों के अनुसार अदालत द्वारा कानूनी दंडात्मक कार्रवाई करने के लिए आवश्यक कदम भी उठाएंगे। ऑफिस मेमोरेंडम संकेत देता है कि उल्लंघन के कारण अनिवार्य सेवानिवृत्ति सहित बड़े दंड हो सकते हैं क्योंकि यह एक सरकारी कर्मचारी की ओर से समाज पर बड़े प्रभाव डालने वाला घोर कदाचार होगा।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest Articles